logo

अनन्या फिर लहराया परचम, नेशनल स्कूल गेम कराटे में लाया ब्रांउच

अशोक प्रियदर्शी
नवादा के डुमरावां की अनन्या ने एक बार फिर अपनी प्रतिभा प्रदर्शित की है। 7- 11 दिसंबर तक जबलपुर में आयोजित 61वीं नेशनल स्कूल गेम अंडर 19 कराटे प्रतियोगिता में अनन्या आनंद ने ब्रांच मेडल ली है। निशा परवीन और सोजल खडगी को भी ब्रांउच मिला है। अनन्या के लिए यह दूसरा अवसर है जब राष्ट्रीय प्रतियोगिता में ब्रांउच हासिल की है। 2015 में दुबई में आयोजित इंटरनेशनल कराटे प्रतियोगिता और वल्र्ड कराटे फेडरेशन द्वारा दिल्ली में काॅमन वेल्थ प्रतियोगिता में शानदार उपस्थिति दर्ज कराई है। पिछले साल खेल दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अनन्या को सम्मानित कर चुके हैं।
यह पहला अवसर नही है। पिछले साल अनन्या 14 आयु वर्ग में पटना के मोइनुल हक स्टेडियम में आयोजित सातवीं ओपन बिहार स्टेट कराटे चैंपियनशिप में चालीस किलोग्राम में गोल्ड मेडल हासिल की थी। शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव ने मेडल प्रदान किया था। 16 और 17 अगस्त 2014 को नई दिल्ली के टालकटोरा इंडोर स्टेडियम में दसवां आॅल इंडिया इंडिपेंडंेस कराटे दो चैम्पियनशिप के 54 किलोग्राम प्लस में अनन्या गोल्ड मेडल हासिल की थी। अनन्या 2013 से राज्य चैम्पियन रह चुकी है।

कराटे में बनाएगी करियर
नवादा की अनन्या आनंद के पिता ओंकार शरण इंजीनियर हैं। मां आशा देवी गृहणी हैं। अनन्या झारखंड पीएमजी अनिल कुमार की भांजी है। अनन्या कराॅटे के क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करना चाहती है। मां-पिता चाहते हैं कि उनकी बेटी देश और दुनिया में अपना परचम लहराए। अनन्या मानती है कि महिलाओं पर हो रहे हमले को रोकने में कराटे सक्षम उपाय है। अधिक से अधिक लड़कियों दिलचस्पी दिखाने की जरूरत है।