logo

याद किए जाएंगे शहाबुद्दीन, रायनयिक ,राजनेता और पत्रकार की थी पहचान

अशोक प्रियदर्शी
नवादा जिले के काशीचक प्रखंड के भटटा गांव निवासी शैयद शहाबुद्दीन शनिवार को पहली दफा याद किए जा रहे हैं। 4 मार्च 2017 को उनका दिल्ली में निधन हो गया है। जबकि 4 नवंबर 1935 में रांची में जन्म हुआ था। उनके पिता शैयद निजाम उद्दीन रांची में पानी को लेकर काम करते थे। शैयद शहाबुददीन की पढ़ाई गया और पटना में हुई। वह बिहार बोर्ड के मैट्रिक की परीक्षा में टाॅपर रहे थे। वह छात्र आंदोलन में सक्रिय रहे हैं।

राजनयिक, राजनेता और पत्रकार की थी पहचान
शहाबुद्दीन राजनयिक, राजदूत और राजनेता के तौर पर उनकी पहचान रही है। 1958 में वह भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) के लिए चुने गए थे। वह दक्षिण-पूर्व एशिया, हिंद महासागर और प्रशांत के संयुक्त सचिव भी रह चुके हैं।
वह 1978 में भारतीय विदेश सेवा से इस्तीफा देकर राजनीति में कदम रखे थे। उसके बाद वह लोकसभा और राज्यसभा दोनों ही सदनों के सदस्य रहे। वह पहली दफा शाहबानो केस और बाबरी मस्जिद विध्वंश के समय चर्चा में आए थे। उसके बाद लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिए थे।
वह भारत के संघीय ढ़ांचे के पैरोकार रहे हैं। 2004 से 2007 के दौरान ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस-ए-मुसावरात के अध्यक्ष भी रहे थे। मुस्लिम समाज के विकास पर केन्द्रित मुस्लिम इंडिया नामक पत्रिका भी निकालते थे। उन्हें एक लेखक के तौर पर पहचान थी।

बड़े बड़े पदों पर रहे हैं शहाबुद्दीन का परिवार
शहाबुद्दीन के एक बेटा और चार बेटियां हैं। शहाबुद्दीन के पुत्र
सबसे बड़ी बेटी अफजल अमानुल्लाह सामाजिक कार्यकर्ता रही है। वह बिहार में नीतीश मंत्रिमंडल में सामाजिक कल्याण विभाग की मंत्री भी रही है। लेकिन मंत्रिमंडल से त्यागपत्र देकर वह आप में ज्वाइन की है। यही नहीं, अफजल अमानुल्लाह के पति अफजल अमानुल्लाह वरिष्ठ आइएएस अधिकारी रहे हैं।
यही नहीं, शहाबुद्दीन के एक बेटी सारा चिकित्सक, नासरीन अधिवक्ता, जौहरा इंजीनियर और डाॅ गजाला पर्यावरणविद रही हैं। यही नहीं, उनका पुत्र नैयर परवेज कोलंबिया यूनिवर्सिटी मे प्रोफेसर थे। उनका 2005 में आकस्मिक निधन हो गया था। परवीन अमानुल्लाह ने कहा कि उनके पिता बहुत ही आदर्शवादी और न्यायप्रिय थे।

जयंती पर सेमिनार का आयोजन
शैयद शहाबुददीन की जयंती पर पहली दफा पटना में सेमिनार का आयोजन किया जा रहा है। सामाजिक कार्यकर्ता प्रमोद कुमार चुन्नू और मुकेश कुमार दिनकर ने बताया कि हाउ इनक्लूसिव इज इंडियाज डेवलपमेंट विषय पर सेमिनार का आयोजन किया जा रहा है। मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, जबकि अध्यक्षता हामिद अंसारी करेंगे। वहीं मुख्यवक्ता पूर्व विदेश सचिव मुचकुंद दुबे, स्वागताध्यक्ष के रूप में प्रवीन अमानुल्लाह और वरिष्ठ पत्रकार इकबाल अहमद हैं।

Related Post